जब से मिले तुम मुझको - KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

बुधवार, 30 नवंबर 2016

जब से मिले तुम मुझको

जब से मिले तुम मुझको
मेरे ख्याल बदल गए
जीने से बेजार था दिल
तुम बहार बन के आ गए

ख़ुशी होती है क्या जिंदगी में
न थी इसकी खबर मन को
जब से तुम मिले प्यार से
लगता पा लिया गगन को
सूनी फुलवारी में तुम
तुम बहार बन के आ गए
जब से मिले तुम मुझको
मेरे ख्याल बदल गए

दिल की बस्ती में राज तेरा
तुम मुस्कान बन होंठों पर छाए
जब से मिले तुम मुझको
मेरे ख्याल बदल गए
..........................................................

आज वैवाहिक जीवन की 21वीं वर्षगांठ है तो सोचा कुछ लिखती चलूँ .. ऐसे में प्रेम पातियाँ बड़े काम आती हैं  ......कविता रावत

21 टिप्‍पणियां:

  1. क्या बात है!
    इस तरह से हि दिन महीने साल गुजरते..

    जवाब देंहटाएं
  2. शादी के सालगिरह की हार्दिक शुभकामनाएं। प्रेम की सुन्दर अभिव्यक्ति।

    जवाब देंहटाएं
  3. शादी के सालगिरह की हार्दिक शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  4. दिल की बस्ती में राज तेरा
    तुम मुस्कान बन होंठों पर छाए
    जब से मिले तुम मुझको
    मेरे ख्याल बदल गए
    बेहतरीन शब्द कविता जी ! और हाँ , विवाह संस्कार की वर्षगाँठ पर आपको अनंत शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  5. सालगिरह की शुभ कामनाएँ
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  6. आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" शुक्रवार 02 दिसम्बर 2016 को लिंक की गई है.... http://halchalwith5links.blogspot.in पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  7. शानदार ...
    शादी की वर्षगांठ पर हार्दिक शुभकामनाएं..

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत-बहुत बधाई आपको.

    जवाब देंहटाएं
  9. वैवाहिक वर्षगांठ पर अनंत शुभकामनाएं !

    जवाब देंहटाएं
  10. बहुत ही बढ़िया आर्टिकल है "कविता जी" ... Thanks for this article!! :) :)

    जवाब देंहटाएं
  11. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा आज शुक्रवार (02-12-2016) के चर्चा मंच "

    सुखद भविष्य की प्रतीक्षा में दुःखद वर्तमान (चर्चा अंक-2544)
    " (चर्चा अंक-2542)
    पर भी होगी!
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  12. ढेरों शुभकामनाएं परिवार को ।

    जवाब देंहटाएं
  13. साल-गिरह पर हार्दिक शुभकामनाएं....खूबसूरत रचना!!!

    जवाब देंहटाएं
  14. शादी के सालगिरह की हार्दिक शुभकामनाएं...बहुत अच्‍छा लि‍खा है।

    जवाब देंहटाएं
  15. सुन्दर प्रस्तुति
    शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  16. सुखमय वैवाहिक जीवन की 21 वर्षगांठ पर आपको बहुत—बहुत बधाई...

    जवाब देंहटाएं
  17. प्रेम जब भी लिखो बाहर ले ही आता है ... बहुत बहुत बधाई २१ वर्ष पूरे होने पर ...

    जवाब देंहटाएं
  18. शादी की सालगिरह की हार्दिक बधाइयाँ..

    जवाब देंहटाएं