June 2022 - KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

Thursday, June 23, 2022

मिटटी-पानी-हवा यही तो कुदरत के हैं वरदान

June 23, 2022 10
प्रकृति का वरदान, नहीं संभलता इंसान  मिटटी-पानी-हवा यही तो कुदरत के हैं वरदान  मानव तो धरती पर निश्चित समय का है मेहमान  नदी, कुएँ, झील, बाव...
और पढ़ें>>

Saturday, June 18, 2022

बुजुर्गो के आशीर्वाद से जीवन में सुकून मिलता है

June 18, 2022 9
एक बार मैं एक आध्यात्मिक संगोष्ठी में सम्मिलित हुआ। मंच से जब एक बुजुर्ग महात्मा ने उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें वृद्धाश्...
और पढ़ें>>

Wednesday, June 15, 2022

Sunday, June 12, 2022

भीषण गर्मी में भी फल देने में पीछे नहीं हैं केले व पपीते के पेड़

June 12, 2022 12
आजकल गर्मी के तेवर बड़े तीखे हैं। नौतपा आकर चला गया लेकिन मौसम का मिजाज कम होने के स्थान पर और भी अधिक गरमाया हुआ है। इंसान तो इंसान प्रकृति ...
और पढ़ें>>

Sunday, June 5, 2022

पेड़-पौधे लगाएं प्रकृति को प्रदूषण से बचाएं

June 05, 2022 10
आज विश्व पर्यावरण दिवस है। हमारे जीवन के अस्तित्व, निर्वाह, विकास आदि को दूषित करने वाली स्थिति को पर्यावरण-प्रदूषण कहा जाता है। जैसे-जैसे ...
और पढ़ें>>