2012 - KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

Saturday, December 29, 2012

श्यामला हिल्स पर बर्फ गिरती तो .......

December 29, 2012 52
सुदूर पहाड़ों पर बर्फवारी के चलते वहाँ से आने वाली सर्द हवाओं से जब देश के अधिकांश हिस्से ठिठुर रहे हों, ऐसे में वे अपनी हिमपूरित पहाड़ी ...
और पढ़ें>>

Thursday, November 29, 2012

Saturday, November 10, 2012

सबका अपना-अपना दीपावली उपहार

November 10, 2012 50
दीपावली आदिकाल में आर्यों की आर्थिक सम्पन्नता एवं हर्षोल्लास का उत्सव हुआ करती थी। जिसमें कृषि उपज को आर्थिक सम्पन्नता का मापदण्ड माना जा...
और पढ़ें>>

Monday, October 22, 2012

नवरात्र-दशहरे के रंग बच्चों के संग

October 22, 2012 55
मार्कण्डेय पुराण के ‘देवी माहात्म्य‘ खण्ड ‘दुर्गा सप्तशती‘ में वर्णित शक्ति की अधिष्ठात्री देवी के नवरूपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द...
और पढ़ें>>

Thursday, October 11, 2012

Tuesday, September 25, 2012

Thursday, September 13, 2012

Sunday, August 26, 2012

भोजताल का उत्सव

August 26, 2012 62
सावन सूखा निकला जा रहा था। बरसात आंख-मिचौनी का खेल खेल रही थी। बारिश के आगमन और गमन के पूर्वाभास में मौसम विशेषज्ञ भी धोखा खा रहे थे। बा...
और पढ़ें>>

Tuesday, August 14, 2012

Sunday, July 29, 2012

बदलती परिस्थितियाँ और रक्षाबन्धन

July 29, 2012 50
कहा जाता है किसी देश की संस्कृति उसका हृदय व मस्तिष्क दोनों ही होती हैं ।   जनमानस प्रसन्नता और खुश होकर आनंदपूर्वक जीवन यापन कर सके, यही...
और पढ़ें>>