जुलाई 2023 - Kavita Rawat Blog, Kahani, Kavita, Lekh, Yatra vritant, Sansmaran, Bacchon ka Kona
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपनी कविता, कहानी, गीत, गजल, लेख, यात्रा संस्मरण और संस्मरण द्वारा अपने विचारों व भावनाओं को अपने पारिवारिक और सामाजिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का हार्दिक स्वागत है।

शनिवार, 29 जुलाई 2023

हँसमुख चेहरा लुभाता उसका सूरत दिखती भोली-भली

जुलाई 29, 2023
कुछ शर्माती कुछ सकुचाती जब आती बाहर वो नहाकर मन ही मन कुछ कहती उलझे लट सुलझा सुलझाकर झटझट झटझट झरझर झरझर बूंदें गिरतीं बालों से पल-पल दिखतीं...
और पढ़ें>>

गुरुवार, 20 जुलाई 2023

सब चलता रहता है

जुलाई 20, 2023
रात दिन की किचकिच पिटपिट तंग होकर भागी बीबी घर छोड़कर भागी बीबी वह अपना दुःखड़ा  सबको सुनाता फिरता है तू चिंता मत कर आ आयेगी पास बैठ कोई अपना ...
और पढ़ें>>

सोमवार, 10 जुलाई 2023

Creative Craft Exhibition : राष्ट्रीय बालरंग महोत्सव

जुलाई 10, 2023
           अधिकांश लोग यही मानते हैं कि प्राइवेट स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों से अधिक प्रतिभाशाली होते हैं।...
और पढ़ें>>

रविवार, 9 जुलाई 2023

हो गई है पीर पर्वत-सी - Geet व Kavita पाठ : Kavish Seth l दुष्यंत कुमार ...

जुलाई 09, 2023
आज दुष्यंत कुमार Smarak Pandulipi संग्रहालय Bhopal में गीत और कविता पाठ कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें युवा कवि और गायक Kavish Seth ने ...
और पढ़ें>>

सोमवार, 3 जुलाई 2023

दादू सब ही गुरु किए, पसु पंखी बनराइ

जुलाई 03, 2023
घर में माता-पिता के बाद स्कूल में अध्यापक ही बच्चों का गुरु कहलाता है। प्राचीनकाल में अध्यापक को गुरु कहा जाता था और तब विद्यालय के स्...
और पढ़ें>>