ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन - KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

Saturday, January 1, 2022

ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन


मरुस्थली अन्तःस्थल में भरें संवेदना

सहयोग, त्याग, उदारता से भरे मन

परस्पर विरोध-विग्रह दूर हों सभी के

कुछ ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन


बीज सा गलकर फिर बने वृक्ष

धरकर परमार्थव्रत करें नवसर्जन

समभाव दिखे सबको दुःख-सुख

कुछ ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन


सभी ब्लॉगर्स और पाठकों को नवोदित वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें 

9 comments:

गिरधारी खंकरियाल said...

नूतन नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

Ravindra Singh Yadav said...

आपकी लिखी रचना ब्लॉग "पांच लिंकों का आनन्द" पर रविवार 02 जनवरी 2022 को लिंक की जाएगी ....

http://halchalwith5links.blogspot.in
पर आप सादर आमंत्रित हैं, ज़रूर आइएगा... धन्यवाद!

!

Kamini Sinha said...

सादर नमस्कार ,

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार(2-1-22) को २0२२ कहता है २०२२(चर्चा अंक4297)पर भी होगी।
आप भी सादर आमंत्रित है..आप की उपस्थिति मंच की शोभा बढ़ायेगी .
--
कामिनी सिन्हा

Marmagya - know the inner self said...

आदरणीया कविता रावत जी, आपको सपरिवार नव वर्ष की ढेर सारी शुभकामनाएँ!
परस्पर विरोध-विग्रह दूर हों सभी के
कुछ ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन!
बहुत सुंदर संदेश! साधुवाद!--ब्रजेंद्रनाथ

Manisha Goswami said...

बहुत ही सुंदर रचना!
आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं व बधाइयाँ!
नवजोत लिए,
नव आश लिए,
नवदीप का प्रकाश लिए,
नववर्ष आए आपके जीवन में
खुशियाँ अपार लिए 🙏🙏
नववर्ष की हार्दिक हार्दिक हार्दिक शुभकामनाएं आदरणीय मैम 🙏

अनीता सैनी said...

बहुत बहुत ही सुंदर सृजन।
बीज सा गलकर फिर बने वृक्ष

धरकर परमार्थव्रत करें नवसर्जन

समभाव दिखे सबको दुःख-सुख

कुछ ऐसा हो नूतनवर्षाभिनंदन.. वाह!

आपको को भी हार्दिक बधाई एवं ढेरों शुभकामनाएँ।
सादर स्नेह

Bharti Das said...

बहुत सुंदर अभिव्यक्ति
नववर्ष की ढेरों शुभकामनाएं

Jigyasa Singh said...

बहुत ही सुंदर भाव भरी कृति ।नूतन वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं और असंख्य बधाइयां कविता जी 💐🙏

विश्वमोहन said...

सुंदर। आपको नए वर्ष की सपरिवार शुभकामनाएँ!!!