ख़ुशी लेकर होली आयी - KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

Saturday, February 27, 2010

ख़ुशी लेकर होली आयी


है साथ रंगभरी सौगात ख़ुशी की लेकर होली आयी
देखो! गाँव-शहर मची धूम सबके मन रंग कितना भायी
आओ सद्भाव, एकता, प्रेम, समरसता के रंग घोलें
बना स्नेह कुण्ड भर पिचकारी बरस फुहार होली खेलें

.... कविता रावत

रंगों के पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं

19 comments:

M VERMA said...

बहुत सुन्दर
होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Apanatva said...

होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Anonymous said...

"आओ सद्भाव, एकता, प्रेम, समरसता के रंग घोलें
बना स्नेह कुण्ड भर पिचकारी बरस फुहार होली खेलें"
होली "मंगल-मिलन" की हार्दिक शुभकामनाएं

रचना दीक्षित said...

आपको व आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें

कडुवासच said...

....होली की हार्दिक शुभकामनाएं !!!

Unknown said...

होली कि ढेर सारी सुबह शुभकामनाएं

संजय भास्‍कर said...

बहुत सुन्दर
होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Dr.R.Ramkumar said...

HOLI KI BHADHAI.

वन्दना अवस्थी दुबे said...

होली की बहुत-बहुत शुभकामनायें.

दिगम्बर नासवा said...

होली के गीत गाओ री .... बहुत सुंदर रचना है होली के दिन .... रंगों की बहार छा रहो है .....
आपको और समस्त परिवार को होली की शुभ-कामनाएँ .....

निर्मला कपिला said...

कविता जी आपको व परिवार को होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ। कविता बहुत अच्छी लगी धन्यवाद

प्रकाश पाखी said...

है साथ रंगभरी सौगात ख़ुशी की लेकर होली आयी
देखो! गाँव-शहर मची धूम सबके मन रंग कितना भायी
होली की शुभकानाएं!
आपके और आपके परिवार के लिए होली मंगलमय हो!

rajiv said...

रंगों का त्योहार मुबारक हो।
खुशियों की फुहार मुबारक हो।

Rajiv Ojha

Urmi said...

आपको और आपके परिवार को होली पर्व की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें!

शरद कोकास said...

आपको भी रंगपर्व की शुभकामनायें ।

Satish Saxena said...

रंगारंग उत्सव पर आपको हार्दिक शुभकामनायें !

Divya Narmada said...

होली का हर रंग दे, खुशियाँ कीर्ति समृद्धि.
मनोकामना पूर्ण हों, सद्भावों की वृद्धि..

स्वजनों-परिजन को मिले, हम सब का शुभ-स्नेह.
ज्यों की त्यों चादर रखें, हम हो सकें विदेह..

प्रकृति का मिलकर करें, हम मानव श्रृंगार.
दस दिश नवल बहार हो, कहीं न हो अंगार..

स्नेह-सौख्य-सद्भाव के, खूब लगायें रंग.
'सलिल' नहीं नफरत करे, जीवन को बदरंग..

जला होलिका को करें, पूजें हम इस रात.
रंग-गुलाल से खेलते, खुश हो देख प्रभात..

भाषा बोलें स्नेह की, जोड़ें मन के तार.
यही विरासत सनातन, सबको बाटें प्यार..

शब्दों का क्या? भाव ही, होते 'सलिल' प्रधान.
जो होली पर प्यार दे, सचमुच बहुत महान.

sm said...

happy holi
lets burn the bad customs of India with this holi

kuldeep Singh Rana said...

help me madam ji