KAVITA RAWAT
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपने विचारों, भावनाओं को अपने पारिवारिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ कुछ सामाजिक दायित्व को समझते हुए सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का स्वागत है। आप जो भी कहना चाहें बेहिचक लिखें, ताकि मैं अपने प्रयास में बेहत्तर कर सकने की दिशा में निरंतर अग्रसर बनी रह सकूँ|

Recent Posts

Tuesday, August 2, 2022

राजकुमार- तू अपने और मैं अपने घर का

August 02, 2022 9
कड़ाकी की सर्दी का मौसम था। घनी पहाड़ियों के बीच बसी सपेरों की बस्ती में एक कच्चे मकान में बाबा दीनानाथ अपने बेटे-बहू और इकलौते पोता और उसके ए...
और पढ़ें>>

Monday, August 1, 2022

Thursday, July 28, 2022

हरियाली अमावस्या और पौधरोपण

July 28, 2022 9
आज सुबह-सुबह दरवाजे के घंटी बजी तो देखा कि हमारे पड़ोस की बिल्डिंग में रहने वाली एक महिला खड़ी थी। उसे देखकर मैंने उसे बैठने को कहा तो वे कहने...
और पढ़ें>>

Saturday, July 23, 2022

परीक्षा परिणाम और अंकों का गणित

July 23, 2022 10
आखिरकार कल दोपहर 2 बजे लम्बे अंतराल के बाद सीबीएसई द्वारा 12वीं और 10वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। इसके साथ ही एक माह से ...
और पढ़ें>>

Tuesday, July 19, 2022

अकेलापन संसार में सबसे बड़ी सजा है

July 19, 2022 11
पिछले दिनों जब मैं छत पर गया तो यह देखकर हैरान रह गया कि मेरी पत्नी ने कुछ दिन पहले घर की छत पर जो गमले रखवाकर उनमें पेड़-पौधे लगाए थे, वे फल...
और पढ़ें>>

Wednesday, July 13, 2022

दादू सब ही गुरु किए, पसु पंखी बनराइ

July 13, 2022 58
घर में माता-पिता के बाद स्कूल में अध्यापक ही बच्चों का गुरु कहलाता है। प्राचीनकाल में अध्यापक को गुरु कहा जाता था और तब विद्यालय के स्...
और पढ़ें>>

Thursday, July 7, 2022

बाग़-बगीचे और घर-आँगन में सदाबहार वन तुलसी लगाइए

July 07, 2022 8
बरसात का मौसम आते ही हमारे बगीचे में राम और श्याम तुलसी के पौधों की संख्या बहुत बढ़ जाती है। लेकिन जैसे ही ठण्ड का मौसम आता है तो इनमें से कु...
और पढ़ें>>

Monday, July 4, 2022

Friday, July 1, 2022

लोकोक्तियों की कविता

July 01, 2022 3
लोकोक्ति अथवा कहावत किसी भी कथन को सारगर्भित और प्रभावपूर्ण ढंग से संक्षिप्त रूप में व्यक्त करने का एक सशक्त माध्यम है। हिन्दी और इसकी बोलिय...
और पढ़ें>>

Thursday, June 23, 2022

मिटटी-पानी-हवा यही तो कुदरत के हैं वरदान

June 23, 2022 10
प्रकृति का वरदान, नहीं संभलता इंसान  मिटटी-पानी-हवा यही तो कुदरत के हैं वरदान  मानव तो धरती पर निश्चित समय का है मेहमान  नदी, कुएँ, झील, बाव...
और पढ़ें>>