Kavita Rawat Blog, Kahani, Kavita, Lekh, Yatra vritant, Sansmaran, Bacchon ka Kona
ब्लॉग के माध्यम से मेरा प्रयास है कि मैं अपनी कविता, कहानी, गीत, गजल, लेख, यात्रा संस्मरण और संस्मरण द्वारा अपने विचारों व भावनाओं को अपने पारिवारिक और सामाजिक दायित्व निर्वहन के साथ-साथ सरलतम अभिव्यक्ति के माध्यम से लिपिबद्ध करते हुए अधिकाधिक जनमानस के निकट पहुँच सकूँ। इसके लिए आपके सुझाव, आलोचना, समालोचना आदि का हार्दिक स्वागत है।

शुक्रवार, 13 मई 2016

रविवार, 1 मई 2016

पेट की खातिर

मई 01, 2016
कुछ लोग भले ही शौक के लिए गाते हों, लेकिन बहुत से लोग पेट की खातिर दुनिया भर में गाते फिरते हैं।   ऐसे ही एक दिन दुर्गेलाल और उसका भाई ...
और पढ़ें>>

शुक्रवार, 8 अप्रैल 2016

सोमवार, 4 अप्रैल 2016

भारत में अंग्रेजी परस्तों की साजिश

अप्रैल 04, 2016
हमारा देश लगभग 1000 वर्ष तक विदेशियों का गुलाम रहा है। भारत को गुलाम बनाने में विदेशियों से कहीं अधिक भारतीय लोगों का भी हाथ रहा...
और पढ़ें>>

मंगलवार, 29 मार्च 2016

ईर्ष्या और लालसा कभी शांत नहीं होती है

मार्च 29, 2016
मूर्ख लोग ईर्ष्यावश दुःख मोल ले लेते हैं। द्वेष फैलाने वाले के दांत छिपे रहते हैं।। ईर्ष्यालु व्यक्ति दूसरों की सुख सम्पत्ति देख दुबला ह...
और पढ़ें>>

शुक्रवार, 11 मार्च 2016

आवाजों को नजरअंदाज न करें

मार्च 11, 2016
हमारे शरीर में नाक से लेकर घुटनों तक समय-समय पर कुछ आवाजें आती हैं। ये आवाजें शरीर का हाल बयां करती हैं। इन्हें नजरअंदाज न करें। इस बारे ...
और पढ़ें>>

मंगलवार, 1 मार्च 2016

सोमवार, 25 जनवरी 2016

शनिवार, 9 जनवरी 2016

शुक्रवार, 18 दिसंबर 2015

उद्यम से सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है

दिसंबर 18, 2015
सोए हुए भेड़िए के मुँह में मेमने अपने आप नहीं चले जाते हैं। भुने   हुए   कबूतर   हवा   में  उड़ते  हुए  नहीं  पाए  जाते  हैं।। सोई लो...
और पढ़ें>>

गुरुवार, 3 दिसंबर 2015

भोपाल गैस त्रासदी: मैं ही नहीं अकेली दुखियारी

दिसंबर 03, 2015
अब तक 15 हज़ार से भी अधिक लोगों को मौत के आगोश में सुला देने वाली विश्व की सबसे बड़ी औधोगिक त्रासदी की आज 31वीं बरसी है। आज भी जब मौत के ...
और पढ़ें>>

सोमवार, 30 नवंबर 2015

शुक्रवार, 20 नवंबर 2015

शनिवार, 7 नवंबर 2015

मंगलवार, 13 अक्तूबर 2015

गाय भारतीय जीवन का अभिन्न अंग है

अक्तूबर 13, 2015
हिन्दू साहित्य में गाय- प्राचीनकाल से ही भारत के जनमानस में गाय के प्रति सर्वोच्च श्रद्धा भाव रहा है। उसे राष्ट्र की महान धरोहर, लौकिक ...
और पढ़ें>>

बुधवार, 7 अक्तूबर 2015

शुक्रवार, 18 सितंबर 2015

श्री गणेश जन्मोत्सव

सितंबर 18, 2015
उत्सव, त्यौहार, पर्वादि हमारी भारतीय संस्कृति की अनेकता में एकता की अनूठी पहचान कराते हैं। रक्षाबन्धन के साथ ही त्यौहारों का सिलसिला शुरू ...
और पढ़ें>>